Sneh Rana के सामने नहीं टिक सकीं बांग्लादेशी बल्लेबाज, टीम इंडिया की उम्मीदें कायम

1 min read

उत्तराखंड की बेटी स्नेह राणा (Sneh Rana) की शानदार गेंदबाजी से टीम इंडिया की क्रिकेट वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंचने उम्मीदें बरकरार हैं।

महिला वन डे विश्व कप (women one day world Cup) के मंगलवार को खेले गए मैच में भारत (team india) का सामना बांग्लादेश से हुआ।

यह मैच सेमीफाइनल के नजरिए से अंक बटोरने के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट पर 229 रन बनाए।

यस्तिका भाटिया (yashtika bhatiya) ने 50, शेफाली वर्मा (shafali verma) ने 42, जबकि पूजा वस्त्रकार (pooja vastrakar) ने 30 रन बनाए।

जवाब में बांग्लादेश (bangladesh) को जीत के लिए 50 ओवर में 230 रन बनाने का लक्ष्य मिला।

लेकिन स्नेह राणा (Sneh Rana) ने अपनी शानदार गेंदबाजी से बांग्लादेश की बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी।

उन्होंने केवल 30 रन देकर 4 प्रतिद्वंद्वी बल्लेबाजों को पवेलियन वापस भेजा। यह स्नेह राणा (Sneh Rana) का वनडे का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन (best performance) था।

के प्रदर्शन का ही असर था कि बांग्लादेश की पूरी महिला क्रिकेट टीम लक्ष्य से 110 रन दूर 119 रन पर ही सिमट गई।

इस तरह इस मैच में जीत दर्ज कर भारतीय टीम ने महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को बरकरार रखा है।

आपको बता दें कि इस जीत के साथ ही टीम इंडिया (team india) की 6 मैचों में 3 जीत हो गई हैं। इससे पहले भारत की 5 मैचों में 2 जीत थी और वह चौथे स्थान पर थी।

यह भी पढ़ें-

http://khaskhabar24.com/salima-tete-was-recognised-due-to-efforts-of-coach-manoj-konbegi/

यहां तक कि इंग्लैंड (england) की टीम की भी इतनी ही जीत थी, लेकिन कम रन रेट (run rate) के चलते वह पांचवें स्थान पर थी।

भारत की जीत में अहम भूमिका अदा करने वाली स्नेह राणा उत्तराखंड (uttarakhand) के देहरादून (dehradun) स्थित सिनौला (sinaula) की रहने वाली हैं।

आपको बता दें कि उन्होंने 2014 में वनडे में पदार्पण किया था, लेकिन 2016 में चोट (injury) के चलते उन्हें टीम से बाहर होना पड़ा। इसके बाद उन्होंने टीम इंडिया में 2021 में वापसी की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *