Success मंत्रा : सूरज से सीखें काम टाले बगैर जीवन में आगे बढ़ना

1 min read

कामयाब लोगों की एक खासियत होती है। और वो ये कि वे अपने समय की कद्र करते हैं। आज का काम कल पर नहीं टालते। यह उनका सक्सेस (success) मंत्र होता है।

सुनने में यह छोटी सी बात लगती है, लेकिन इस success mantra का असर दूरगामी और गहरा होता है।

याद कीजिए, हम कितनी बार सोचते हैं कि सुबह उठकर सैर पर जाएंगे, लेकिन सुबह सुबह रजाई से नहीं निकल पाते।

मन ही नहीं करता। सोचते हैं कि बस आज आज और ठीक से सो लें। सैर कल से। और इस तरह सुबह की सैर लगातार टलती जाती है। सेहतमंद होने का सपना आंखों में ही बंद रहता है।

दोस्तों, समय से काम शुरू करना और समय पर खत्म करना एक अनुशासित जीवन (disciplined life) के लिए बेहद जरूरी है। ऐसे बहुत से उदाहरण हैं, जिन्हें आप अपनी प्रेरणा बना सकते हैं।

दूर जाने की जरूरत नहीं। जो लोग काम के बारे में सोचते जरूर हैं, लेकिन कर नहीं पाते उन्हें सूरज को अपना गुरु बना लेना चाहिए।

जी हां, वही सूरज (sun), जो पूरब से निकलता है और दुनिया भर को रोशनी देता है। जी हां, जब सूरज किसी भी वजह से उगना नहीं छोड़ता तो हम इंसान अपने निश्चय को क्यों कर छोड़ें भला?

यदि आप अपनी बेहतरी के लिए कुछ करना चाहते हैं तो जो समय आपने निर्धारित किया है, उस पर शुरू कर दें। एक बार फैसला लेने के बाद फिर अगर मगर न करें।

यह भी पढ़ें

http://khaskhabar24.com/kanak-cinema-hall-of-dehradun-is-demolished-garhwali-film-gharjawain-had-been-shown-here/

आपके पास समय पर काम ना करने के सौ बहाने हो सकते हैं,  लेकिन काम शुरू करने के लिए सिर्फ एक कदम की आवश्यकता है।

और ये एक कदम ही किसी भी बड़ी यात्रा का आधार साबित होता है। तो फिर ये पहला कदम उठाने में हिचक न कीजिए।

बस एचडब्ल्यू लांगफेलो (HW Longfellow) की ये कविता याद रखिए-

ऊंची पहाड़ियों पर राही जैसे जा पहुंचे हैं

उन ऊंचाइयों का फासला कोई एक दिन, एक क्षण में नहीं तय हुआ था

जब जग का कोना-कोना सो रहा था

वे अकेले और अनथक बढ़ रहे थे

चढ़ रहे थे

आसमां जैसे पहाड़ों पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *