Lakshya sen : उत्तराखंड के लाल का कमाल, आल इंग्लैंड बैडमिंटन फाइनल का टिकट पक्का

1 min read

उत्तराखंड के लाल लक्ष्य सेन (lakshya sen) ने एक बार फिर प्रदेश का नाम ऊंचा कर दिया है।  आल इंग्लैंड बैडमिंटन के फाइनल का टिकट कटा लिया है।

लक्ष्य सेन (lakshya sen) ने शनिवार 19 मार्च, 2022 को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में ली जी जिया को परास्त कर जगह बनाई।

उन्होंने 21-13, 12-21, 21-19 से जीत हासिल की।  आपको बता दें कि प्रकाश पादुकोण, पुलेला गोपीचंद के बाद लक्ष्य सेन शायद यह खिताब भारत लाने में कामयाब हो जाएं।

उत्तराखंड के बैडमिंटन प्रशंसकों के दिलों में भी अब यह इच्छा है और वे अपने उत्तराखंड (uttarakhand) के लक्ष्य सेन (lakshya sen) के लिए दुआएं भी कर रहे हैं।

फिलहाल लक्ष्य की परफॉर्मेंस का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने पिछले ही सप्ताह जर्मन बैडमिंटन ओपन में रजत पदक यानी सिल्वर मेडल (silver medal) हासिल किया था।

Lakshya sen जर्मन ओपन में सिल्वर जीतने के बाद।
Lakshya sen जर्मन ओपन में सिल्वर जीतने के बाद।

आपको बता दें कि यह कामयाबी अर्जित करने वाले वे पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

विख्यात बैडमिंटन खिलाड़ी रहे प्रकाश पादुकोण ने भी इस सफलता पर अपने ट्विटर हैंडल (twitter handle) पर लक्ष्य सेन की खूब प्रशंसा की थी।

अब लक्ष्य का लक्ष्य आल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप का निर्णायक मुकाबला जीतना है ताकि, वह इस खिताब अपने देश ला सकें।

यह भी पढ़ें-

http://khaskhabar24.com/salima-tete-was-recognised-due-to-efforts-of-coach-manoj-konbegi/

लक्ष्य सेन की यह कामयाबी सोशल मीडिया (social media) पर भी छाई हुई है। जर्मन ओपन में शानदार प्रदर्शन करने के बाद तुरंत वे आल इंग्लैंड खेलने के लिए कोर्ट में उतर गए।

उनकी यह कामयाबी बेशक खेल के कई जानकारों को चकित कर सकती है, लेकिन उनके पुराने कोच उनकी प्रतिभा को देखते हुए उनसे इससे भी अधिक की उम्मीद रखते हैं।

लक्ष्य सेन का डेडिकेशन, डिसिप्लिन और लगातार मेहनत का मंत्र उनके खेल को हर दिन निखार रहा है। फिलहाल उन्हें फाइनल के शुभकामनाएं दीजिए।

भविष्य में उन्हें इससे भी बड़ी कामयाबी मिले। इसी की दुआ बैडमिंटन को प्यार करने वाले सभी प्रशंसक कर रहे हैं। आइए, इनके साथ शामिल हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *