क्रिस्टीन आर्मस्ट्रांग, जिन्होंने 43 साल की उम्र में जीता था साइकिलिंग का ओलंपिक गोल्ड

1 min read

आज विश्व साइकिल दिवस है। आज बात क्रिस्टीन आर्मस्ट्रांग (Kristin Armstrong) की। क्रिस्टीन ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाली सबसे उम्रदराज महिला साइकिलिस्ट हैं।

आपको बता दें कि क्रिस्टीन आर्मस्ट्रांग (Kristin Armstrong) का जन्म 11 अगस्त, 1973 को मैंफिस टेनेसी (यूएस) में हुआ था।

क्रिस्टीन को बचपन से ही स्विमिंग (swimming) और साइकिलिंग (cycling) का शौक था। वे ट्राई एथलीट भी थीं।

सन 2001 में 27 साल की उम्र में उनको कूल्हों में ओस्टियोआर्थराइटिस (osteoarthiritis) की बीमारी हुई जिसके बाद डॉक्टर ने उन्हें ट्राई एथलीट के बतौर किसी भी तरह के अभ्यास से दूरी बरतने की सलाह दी।

इस मुश्किल से उबरने के लिए क्रिस्टिन आर्मी स्ट्रांग ने अपना पूरा ध्यान साइकिलिंग (cycling) पर केंद्रित कर दिया।

उन्होंने जी तोड मेहनत की। आखिर अपने ख्वाबों की मंजिल को पाया। उन्होंने ओलंपिक टाइम ट्रायल के तीन गोल्ड अपने नाम किए।

Kristin Armstrong एक इवेंट के दौरान।
Kristin Armstrong एक इवेंट के दौरान।

2008 में बीजिंग ओलंपिक (Beijing Olympics), 2012 के लंदन ओलंपिक London (Olympics) और 2016 के रियो ओलंपिक (reo Olympics)  में उन्होंने ये गोल्ड (gold) मेडल हासिल किए। ‌

इसके अलावा 2 वर्ल्ड चैंपियनशिप और 6 यूएस नेशनल चैंपियनशिप भी उन्होंने अपने नाम की हैं। उन्होंने 2016 रियो ओलंपिक में गोल्ड जीतकर सबसे उम्रदराज महिला होकर यह उपलब्धि हासिल करने का रिकॉर्ड भी बनाया।

अपने 43वें जन्मदिन से ऐन एक दिन पहले यह स्वर्णिम उपलब्धि उनके खाते में जुड़ी। इतिहास में वे ऐसी पहली महिला बन गईं।

आपको बता दें कि इससे पहले उन्होंने यूनिवर्सिटी आफ इदाहो (University of Idaho) से एक्सरसाइज फिजियोलॉजी में पढ़ाई की थी।

और इन दिनों वे पब्लिक स्पीकिंग मैनेजर के बतौर कार्य कर रही हैं। वे सेंट ल्यूक्स कम्युनिटी हेल्थ में हेल्थ मैनेजर के रूप में भी काम करती हैं।

यह भी पढ़ें-

http://khaskhabar24.com/sarika-as-a-child-artist-also-gained-fame/

क्रिस्टीन आर्मस्ट्रांग ने जो सावोला (Jo savola) से शादी की। और लुकास विलियम नाम का उनका एक बेटा भी है, जो 2010 में पैदा हुआ।

क्रिस्टीन के पिता यूएस मरीन में आर्मी आफिसर थे। क्रिस्टीन यूएस में महिला साइकिलिंग की पर्याय हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *