नरेंद्र मोदी स्टेडियम रखा गया देश के सबसे बड़े मोटेरा स्टेडियम का नाम

1 min read

गुजरात में बने देश के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम मोटेरा स्टेडियम (motera stadium) की जगह नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narendra modi stadium) होगा।

इससे पहले इसे सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम (मोटेरा) के नाम से जाना जाता था। 24 फरवरी, 2021 भारत-इंगलैंड India vs England के बीच टेस्ट मैच शुरू होने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (ramnath kovind) ने इस स्टेडियम का औपचारिक रूप से उद्घाटन किया

उन्होंने अपनी पत्नी के साथ नवनिर्मित सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव का भूमि पूजन किया।

इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय खेल राज्य मंत्री श्री किरेन रिजिजू, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल आदि भी मौजूद रहे।

इस नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narendra modi stadium) स्टेडियम की कुछ खासियतें-

-सबसे पहली बात गुजरात के मोटेरा स्थित इस स्टेडियम में सवा लाख दर्शक एक साथ बैठकर मैच देख सकते हैं।

-ये स्टेडियम 63 एकड़ के इलाके में फैला है।

-इस स्टेडियम में टेनिस, फुटबॉल, और बैडमिंटन कोर्ट भी बना हुआ है।

-इसमें चार हजार कार और 10 हजार दोपहिया वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था है।

-मोटेरा स्टेडियम (motera stadium) में एक वर्ल्ड क्लास स्विमिंग पूल भी है, ताकि प्लेयर्स तनावमुक्त हो सकें।

-क्रिकेटरों को फिजियो, जिम समेत सभी सुविधाएं उनके ड्रेसिंग रूम में मुहैया होंगी।

-मोटेरा स्टेडियम को गुजरात के मोटेरा में स्थित होने की वजह से मोटेरा स्टेडियम पुकारा जाता है।

-इसका आधिकारिक नाम सरदार पटेल स्टेडियम रखा गया है।

-इस स्टेडियम में LED फ्लडलाइट (floodlight) लगाई गई है। इससे यहां डे-नाइट टेस्ट के बीच हवा में गेंद को आसानी से देखा जा सकता है।

इस मोटेरा स्टेडियम motera stadium में 11 सेंटर पिचें हैं।

-स्टेडियम में व्यापक पुर्ननिर्माण का कार्य मौजूदा BCCI सचिव जय शाह के राज्य क्रिकेट इकाई के अध्यक्ष रहते 2015 में शुरू हुआ।

Motera stadium में भारत-इंग्लैंड के बीच मैच तय है।
Motera stadium में भारत-इंग्लैंड के बीच 24 फरवरी, 2021 को मैच है।

-यह दुनिया का अकेला खंभा रहित (piller less) स्टेडियम है।  । -इस स्टेडियम में 75 वीआईपी केबिन भी बनाए गए हैं। मीडिया और कॉमेंटेटर (commentators) के लिए अलग से चैंबर बनाए गए है।

-इस स्टेडिम में बैठने की व्यवस्था इस तरह की गई है कि इमरजेंसी के वक्त केवल 7 मिनट के अंदर स्टेडियम को खाली (evacuate) कराया जा सकता है।

यह भी पढ़ें

http://khaskhabar24.com/forest-guard-died-in-an-elephant-attack-at-hardwar/

-यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम है, जिसमें अभ्यास (practice) और सेंटर पिच (center pitch) के लिए एक ही मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *